आसपास नहीं बैठ पाएंगे, खाने को सिर्फ पैक्‍ड चीजें, सिनेमा हॉल जाने से पहले ये बातें जान लें

0
28

केंद्र सरकार ने 15 अक्टूबर से देश में सिनेमा हॉल्स, थियेटर, मल्टीप्लेक्स 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की इजाजत दी है। फिलहाल आधी सीटें ही बुक हो पाएंगे क्‍योंकि मास्क पहनना और दर्शकों के बीच एक सीट की दूरी रखना अनिवार्य होगा। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को सिनेमाघरों के लिए नियमों की घोषणा की। इसके अनुसार, फिल्‍म शुरू होने से पहले दर्शकों को कोरोना से बचाव के बारे में जागरूकता फैलाने वाली एक मिनट की एक फिल्म भी दिखानी होगी। आइए जानते हैं क‍ि सात महीने बाद फिल्‍मों के ठिकाने जब खुलेंगे, तब क्‍या बदलाव होंगे।
Cinema hall reopen date: कोरोना के चलते बंद रहे सिनेमाघर 15 अक्टूबर से 50 फीसदी क्षमता के साथ खुल सकेंगे। केंद्र सरकार ने कई नियम बनाए हैं जिनका पालना जरूरी होगा।
केंद्र सरकार ने 15 अक्टूबर से देश में सिनेमा हॉल्स, थियेटर, मल्टीप्लेक्स 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की इजाजत दी है। फिलहाल आधी सीटें ही बुक हो पाएंगे क्‍योंकि मास्क पहनना और दर्शकों के बीच एक सीट की दूरी रखना अनिवार्य होगा। सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को सिनेमाघरों के लिए नियमों की घोषणा की। इसके अनुसार, फिल्‍म शुरू होने से पहले दर्शकों को कोरोना से बचाव के बारे में जागरूकता फैलाने वाली एक मिनट की एक फिल्म भी दिखानी होगी। आइए जानते हैं क‍ि सात महीने बाद फिल्‍मों के ठिकाने जब खुलेंगे, तब क्‍या बदलाव होंगे।
इन बातों का रखना होगा ध्‍यानहर शख्स की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी और बिना लक्षण वालों को ही प्रवेश मिलेगा।
सिंगल स्क्रीन में टिकट बुकिंग के लिए ज्यादा खिड़कियां खोलनी होंगी।
सभी जगह ऑनलाइन टिकट बुकिंग को बढ़ावा दिया जाएगा।
कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग के लिए दर्शकों के फोन नंबर भी लिए जाएंगे।
फिल्म के दौरान लोगों को हर समय मास्क लगाना होगा।
एक शो खत्म होने के बाद पूरा हॉल सैनिटाइज होगा, तभी दूसरा शो शुरू होगा।
वेंटिलेशन की सही व्यवस्था के साथ एसी का तापमान 24 से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच होना चाहिए।
शो की शुरुआत, इंटरवेल और खत्म होने के समय लोगों के प्रवेश और बाहर जाने के दौरान सामाजिक दूरी बनी रहे।
सिनेमा घरों में सिर्फ डिब्बाबंद भोजन या पेय पदार्थों की अनुमति होगी। जो भी आप काउंटर से खरीदेते हैं, वह पैक्‍ड रहेगा।
सिनेमा घरों के सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए दस्ताने, जूते, मास्क, पीपीई किट आदि का प्रावधान किया गया है।
दिल्‍ली में कब खुलेंगे सिनेमा हॉल?दिल्ली में भी तय की गई तारीख से सिनेमाघर खुल सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली सरकार ने इस बाबत प्रस्ताव तैयार किया है। अगर प्रस्ताव को उपराज्यपाल की मंजूरी मिलती है तो फिर दिल्ली में भी करीब 7 महीने के बाद सिनेमाघर खुल सकते हैं। दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में बहुत सारे लोगों के रोजगार चले गए हैं और अब दिल्ली में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है। ऐसे में केंद्र ने जो गाइडलाइंस तैयार की है, उनके मुताबिक दिल्ली सरकार भी सिनेमाघरों को शुरू करने के पक्ष में है। सरकार चाहती है कि लोगों को फिर से रोजगार मिले। तय की गई गाइडलाइंस का सख्ती से पालन हो और केंद्र की गाइडलाइंल को पूरी तरह से फॉलो किया जाए।
बाकी राज्‍यों में क्‍या है प्‍लान?सिनेमा हॉल, थियेटर, मल्‍टीप्‍लेक्‍स खोलने पर अंतिम फैसला राज्‍यों को करना है। चूंकि कोविड का रिस्‍क है, ऐसे में जहां संक्रमण के मामले ज्‍यादा हैं, वहां पर 15 अक्‍टूबर से इन्‍हें न खोलने का फैसला हो सकता है। पश्चिम बंगाल, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, बिहार, उत्‍तराखंड, पंजाब, हरियाणा जैसे राज्‍यों में तय तारीख से ही थियेटर खुलने की पूरी संभावना है। हालांकि महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु जैसे राज्‍य अभी इन्‍हें बंद ही रख सकते है क्‍योंकि वहां 5 हजार से ज्‍यादा मामले रोज आ रहे हैं।
नई फिल्‍में अभी देखने को नहीं मिलेंगी?सिनेमा हॉल और मल्‍टीप्‍लेक्‍स मालिकों के लिए यह अच्‍छी खबर है। लेकिन हालात देखते हुए अगले कुछ महीनों में नई फिल्‍मों की रिलीज टाली जा सकती है। कोई चांस लेने को तैयार नहीं क्‍योंकि एक तो आधी सीटें ही बुक होनी हैं, दूसरे 15 अक्‍टूबर से सारे सिनेमा हॉल तो नहीं खुलेंगे। अगर 1 नवंबर को भी थियेटर्स खुल जाते हैं तो भी 10-15 दिन के नोटिस पर फिल्‍म रिलीज करना बहुत मुश्किल होगा। कई सिनेमा हॉल मालिकों ने पुरानी फिल्‍में दिखाने की तैयारी की है।