बिहार चुनाव: रामविलास पासवान की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल गए बेटे चिराग- LJP संसदीय बोर्ड की बैठक टली

0
12

पटना
दिल्ली (Delhi) के अस्पताल में भर्ती केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान (Ram Vilas Paswan) की तबीयत बिगड़ गई है। खबर के बाद चिराग पासवान () अस्पताल के लिए रवाना हो गए हैं। रामविलास पासवान की तबीयत (Ram Vilas Paswans Health Deteriorated) बिगड़ने के बाद लोजपा संसदीय बोर्ड (Meeting Of LJP Parliamentary Board Postponed) की बैठक को टाल दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, एलजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक रविवार तक के लिए टाल दी गई है। एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान अपने पिता राम विलास पासवान के पास अस्पताल में मौजूद हैं। लोजपा संसदीय बोर्ड की इस बैठक में यह फैसला होना था कि पार्टी बिहार चुनाव (Bihar Election) एनडीए (NDA) में रह कर लड़े या अलग होकर अपने प्रत्याशी चुनीवी मैदान में उतारे।

दरअसल, रामविलास पासवान बीते माह से ही दिल्ली के एस्कॉर्ट्स अस्पताल में भर्ती हैं। उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने के बाद अस्पताल लाया गया था, जहां आईसीयू में भर्ती कराया गया। पासवान की बीमारी को लेकर बेटे चिराग ने पार्टी कार्यकर्ताओं को एक बेहद भावपूर्ण चिट्ठी भी लिखी थी। इसमें उन्होंने कहा था कि आज जब उन्हें मेरी जरूरत है तो मुझे उनके साथ रहना चाहिए नहीं तो मैं अपने आपको माफ नहीं कर पाऊंगा।

‘मोदी से बैर नहीं, नीतीश तेरी खैर नहीं’ नारे के साथ चुनाव लड़ सकती है एलजेपी
इससे पहले शनिवार को बिहार में एक पोस्टर वायरल हुआ है। माना जा रहा है कि यह पोस्टर एलजेपी की ओर से वायरल किया गया है। इस पोस्टर पर लिखा है- ‘मोदी से कोई बैर नहीं, नीतीश तेरी खैर नहीं।’ यानी मसला आर या पार का लग रहा है क्योंकि पोस्टर में चिराग, नरेंद्र मोदी से दोस्ती का हाथ मिला रहे हैं, तो वहीं नीतीश के साथ संभावनाओं के द्वार बंद करते दिख रहे हैं। लोजपा इस पोस्टर की आधिकारिक दावेदारी भले नकार रही है, लेकिन माना यही जा रहा है कि इसे लोजपा के समर्थकों ने ही जारी कराया है। माना जा रहा है कि लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) एनडीए गठबंधन से बाहर निकलकर 143 सीटों पर ‘मोदी से बैर नहीं, नीतीश तेरी खैर नहीं’ या ‘मोदी के साथ कोई दुश्मनी नहीं’ के नारे के साथ चुनाव लड़ सकती है।