हिंदू विरोधी है योगी सरकार, पेट्रोल डालकर पीड़िता के शव को जलाया: राउत

0
36

उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है इस घटना ने सारी मानवता को शर्मसार और कलंकित कर दिया है इससे भी ज्यादा दुख की बात यह है कि पीड़िता ने अपनी मौत के पहले खुद बयान जारी कर यह बताया कि उसके साथ बलात्कार हुआ है। बावजूद इसके पुलिस मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर बता रही है कि उसके साथ बलात्कार नहीं हुआ है बल्कि चोट लगने और सदमे की वजह से मौत हुई है।

यूपी में तानाशाही चल रही है
शिवसेना के सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना पर योगी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून का राज नहीं है बल्कि वहां पर तानाशाही चल रही है। जिस प्रकार से प्रशासन पीड़िता के परिवार के साथ ज्यादती कर रहा है और उनकी भावनाओं को दबा रहा है उससे यह स्पष्ट होता है की उत्तर प्रदेश में गरीबों की और दलितों की सुनवाई नहीं है।

पीड़िता के बयान को झुठलाने का प्रयास
राउत ने पर यह आरोप भी लगाया कि वह पीड़िता के डाईंग डिक्लेरेशन को झूठा करार देने में लगे हुए हैं। एक तरफ जब मुंबई में फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह का सुसाइड हुआ जो दुखद है और ऐसा नहीं होना चाहिए था। तब लोग इस आत्महत्या को हत्या साबित करने में लगे हुए थे और आज भी लगे हैं। जिसका कोई सुबूत भी नहीं था। लेकिन उत्तर प्रदेश में जब एक बच्ची ने अपनी मौत के पहले खुद यह बयान दिया कि उसके साथ में गैंगरेप हुआ है तब उसके बाद भी सरकार और प्रशासन मिलकर यह साबित करने में लगे हुए हैं की उस बच्ची के साथ बलात्कार हुआ ही नहीं है। यह बेहद अफसोस और शर्म की बात है।

गांधी परिवार ने देश के लिए त्याग किया है
संजय राउत ने उत्तर प्रदेश पुलिस में सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि पीड़ित परिवार से मिलने के लिए जब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हाथरस के लिए निकले तो उन्हें रास्ते में ही रोक कर जिस तरह से उनके साथ पुलिस ने बर्ताव किया वह निंदनीय है। राहुल गांधी उस परिवार से आते हैं जिसने इस देश के लिए सबसे ज्यादा कुर्बानियां दी हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने कोई भी त्याग नहीं किया। वे लोग राहुल गांधी पर इस प्रकार से हमला करते हैं।

योगी और मोदी हिन्दू विरोधी हैं
संजय राउत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि यह लोग हिंदुओं के नाम पर वोट बैंक की राजनीति करते हैं और चुनाव के वक्त में उनसे वोट भी लेते हैं। लेकिन हाथरस की इस घटना में युवती के परिवार की बातों को सरकार और प्रशासन ने पूरी तरह से अनसुना किया। एक अविवाहित हिंदू युवती के शव को पेट्रोल डालकर जला दिया गया। यह कौन से हिंदू धर्म में लिखा है। पीड़िता का परिवार लगातार प्रशासन से गुहार लगाता रहा लेकिन उनकी बातों को सुना नहीं गया। यह सरकार हिंदू विरोधी सरकार है।