हाथरस मामला: दो अक्टूबर को पीड़ित परिवार से मिलेंगे केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले

0
28

उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप मामले में केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले (central minister Ramdas athavale) दो अक्टूबर को हाथरस जाकर शोकाकुल परिवार से मुलाकात करेंगे। मुसीबत की घड़ी में परिवार को सांत्वना देने और हिम्मत बढ़ाने के लिए साथ ही परिवार को यह भरोसा दिलाएंगे कि वह अकेले नहीं हैं पूरा देश उनके साथ है।

घटना से पूरे में आक्रोश है
उत्तर प्रदेश के इस घटना से पूरे देश में गुस्से की लहर है। हर कोई हाथरस की गुड़िया के साथ दरिंदगी करने वाले दरिंदों को फांसी के फंदे पर झूलते हुए देखना चाहता है। मुंबई में आरपीआई के कार्यकर्ताओं ने इस घिनौनी करतूत और निर्मम हत्या के विरोध में आंदोलन भी किया। मुंबई के आज़ाद मैदान में भी आरपीआई कार्यकर्ता इस घटना का विरोध करेंगे।

हाथरस की घटना को लेकर योगी से मिलेंगे रामदास अठावले
केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले ने भी हाथरस की घटना की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा की आरोपियों को जल्द से जल्द और कठोर से कठोर सजा मिले। इसलिए वे 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल से मुलाक़ात करेंगे। आठवले ने कहा कि पीड़ित पक्ष को सरकार की तरफ से सुरक्षा और आर्थिक मदद मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस घटना ने समूची मानव जाति को कलंकित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि दलितों के ऊपर अत्याचार के मामले लगातर बढ़ते ही जा रहे हैं। इसलिए ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए राज्य सरकारों को प्रभावी और कठोर कदम उठाने चाहिए ताकि अपराधी किसी अपराध को करने के पहले सौ बार सोचें।

योगी आदित्यनाथ को बर्खास्त करें
एनसीपी के विधायक और राष्ट्रीय प्रवक्ता नवाब मलिक ने हाथरस की घटना पर विरोध जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने कहा कि उन्हें हाथरस की घटना पर बेहद दुख है। यदि वाकई में उनको दुख है तो उन्हें तुरंत योगी सरकार को बर्खास्त करना चाहिए वरना यह सिर्फ लीपापोती से ज्यादा और कुछ नहीं है। योगी आदित्यनाथ एक राजा की तरह व्यवहार करते हैं और उन्हें लोकतांत्रिक व्यवस्था में कोई दिलचस्पी नहीं है। यूपी में कानून व्यवस्था का कोई नामोनिशान तक नहीं है।