12 दिन में 10 लाख को कोरोना, अमेरिका को भी पीछे छोड़ने की करीब भारत

0
15

नई दिल्ली
देश में कोरोना (Corona Cases in India) की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है। भारत अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा ऐसा देश बन गया है जहां कोविड-19 मरीजों की संख्या 60 लाख के पार पहुंच गई है। यही नहीं, पिछले 12 दिन में देश में कोरोना के 10 लाख नए केस मिले हैं। अगर देश में कोरोना के केस बढ़ने की रफ्तार यही रही तो जल्द ही भारत अमेरिका को छोड़कर नंबर वन पर पहुंच जाएगा।

अमेरिका को पीछे छोड़ देगा भारत?
इस वक्त अमेरिका में कोरोना ( Updates) पीड़ितों की संख्या 71 लाख से ज्यादा है जबकि भारत में 60 लाख से ज्यादा। भारत और अमेरिका के बीच इस वक्त कोविड-19 के मरीजों की संख्या में करीब 11 लाख का अंतर है। अगर भारत में नए केसों के बढ़ने की रफ्तार यही रही तो वह जल्द ही अमेरिका को भी पीछे छोड़ देगा। 1 सितंबर तक अमेरिका में 61 लाख कोरोना के मामले थे जबकि भारत में 38 लाख के करीब और दोनों देशों के बीच 23 लाख का अंतर था। लेकिन 26 सितंबर तक अंतर घटकर केवल 11 लाख का रह गया है।

भारत के लिए ‘गुड न्यूज’ भी
भारत के लिए अच्छी बात ये है कि कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या देश में लगातार बढ़ भी रही है और यह आंकड़ा 50 लाख के पार जा चुका है। कोरोना से रिकवरी रेट 82% तक पहुंच गया है। रविवार को देश में कोरोना 84,185 नए केस मिले थे। इसके साथ ही मरीजों की संख्या बढ़कर 60,72,757 लाख तक पहुंच गई थी। वहीं, मरने वालों की संख्या बढ़कर 95 हजार पहुंच गई है।

इंफेक्शन इंडेक्स में कमी!
इन सबके बीच एक इंपेक्शन इंडेक्श में भी कमी आई है। यानी कोरोना से संक्रमित मरीजों के किसी दूसरे स्वस्थ शख्स को संक्रमित करने की संख्या घटी है और यह पिछले सप्ताह कोविड-19 से प्रभावित 5 सबसे बड़े राज्यों में भी कम हुआ है। महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश और उत्तर प्रदेश में R वैल्यू 19 से 22 सितंबर के बीच 1 के नीचे रहा है। हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 5 राज्यों में बेहतर स्थिति के बाद ही यह उपलब्धि ज्यादा दिन तक टिक सकती है।