ट्रेन, बस, रास्ते सब बंद… देखिए कोरोना काल में बारिश ने मुंबई का क्या हाल कर दिया

0
40

मुंबई
मुंबई में भारी बारिश ने एक बार फिर लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बुधवार को हुई भारी बारिश ने यहां बीते दो दशकों का रेकॉर्ड तोड़ दिया है। बारिश के हालातों के बीच मुंबई की रफ्तार थम गई है। बड़ी बात ये कि सिर्फ मंगलवार शाम से बुधवार सुबह तक मुंबई शहर में करीब 270 एमएम बारिश हुई है। विभाग के मुताबिक, नवी मुंबई में बीते 24 घंटे में 304 एमएम, नेरूल में 301.7 एमएम, सानपाड़ा में 185 एमएम, वाशी में 179.5 एमएम और घंसोली में 136.9 एमएम बारिश हुई है।

बीते 24 घंटे में मुंबई में हुई इस बारिश ने कोरोना काल में आम लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। बाते 26 सालों में सितंबर महीने में ये दूसरा मौका है, जब इतनी बड़ी बारिश रिपोर्ट की गई है। मुंबई शहर में बीते 24 घंटे की बारिश ने तमाम इलाकों में भारी जलजमाव की स्थिति बना दी है।

स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक, मंगलवार रात से लेकर बुधवार सुबह तक मुंबई के तमाम हिस्सों में भारी बारिश हुई है। बीएमसी ने भारी बारिश के कारण आवश्यक सुविधाओं के अलावा सभी दफ्तरों के बंद रहने की जानकारी दी है।

सड़क पर जलजमाव में थमी बेस्ट की सर्विस
मौसम विभाग ने अगले कुछ घंटों में मुंबई के तमाम हिस्सों में बारिश की आशंका जताई है। बारिश के कारण बेस्ट की 30 बसें जलजमाव में फंस गई हैं। इनमें से करीब 23 बसों को ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा शेष स्थानों पर मैकेनिक जलजमाव के कारण नहीं पहुंच सके हैं। बारिश के कारण सेंट्रल रेलवे ने ठाणे से सीएसटी स्टेशन के बीच ट्रेन सर्विस को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही सीएसटी से वाशी के बीच हार्बर लाइन पर ट्रेन सर्विसेज भी प्रभावित हुई हैं।

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट
मौसम विभाग ने मुंबई, ठाणे और रायगढ़ के इलाकों में बारिश की संभावना जताते हुए येलो अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा पालघर जिले में बुधवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इससे पहले मौसम विभाग ने मुंबई, ठाणे समेत महाराष्ट्र के कुल 15 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया था। 22 अक्टूबर को विभाग की ओर से के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया था। इसके अलावा मछुआरों को गहरे समुद्री इलाके में ना जाने की सलाह दी गई थी।